how to identify fake Indian currency note

how to identify fake Indian currency note 


In this post, you will read about fake currency and
how to identify fake Indian currency notes. It will be very useful to you knowing about fake currency.
 
जब्त नकली  नोटों  में 
सर्वाधिक  दो हज़ार के नोट 
काले  धन को सामने लाने और भ्र्ष्टाचार  पर लगाम लगाने के लिए नोट बंदी  का फैसला इसके मकसद को चुनौती दे रहा है | फैसले के बाद बाज़ार में लाए  गए नए नोटों से ही  फर्ज़ीवाड़े  का खेल  हो रहा है |  इसमें  सबसे  ज्यादा हिस्सेदारी  दो हज़ार के नोटों की है |  सबसे ज्यादा मामले गुजरात से हैं | इसके बाद पश्चिम बंगाल , तमिलनाडु  और उत्तर प्रदेश  आते HAIN| नेशनल  क्राइम रिकॉर्ड  ब्यूरो  के आंकड़ों  के अनुसार  नोटबंदी  के बाद   से अब तक नकली नोटों के मामले में दो हज़ार के नोटों की 56 प्रतिशत  हिस्सेदारी  है | 


साल दर  साल बढ़ रहे मामले 

आठ नवंबर  2016  को प्रधान मंत्री  नरेंद्र  मोदी के पांच सौ  और हज़ार के नोट  बंद करने के ऐलान  के साथ नए नोटों के सुरक्षा पहलुओं  का भी दावा  किया  गया था लेकिन एन सी आर बी  के आंकड़े कुछ और ही बता रहे है | इसके मुताबिक साल 2017 -18  में  कुल 46 .0 6  करोड़  कीमत के नकली नोट  पकड़े  गए | इसमें दो हज़ार के नोटों की हिस्सेदारी 2017 में 53 .3  प्रतिशत  और 2018 में बढ़कर  61 .1  प्रतिशत हो गई | 

बैंक में ही पहुंचे  नकली नोट 
RBI  की 2018 -19 की रिपोर्ट के मुताबिक साल 2017 -18 के दौरान बैंक में लेनदेन  के दौरान दो हज़ार के 17,929  नकली नोट मिले | अगले ही साल यह संख्या  बढ़कर 21,847 हो गई | 

सबसे ज्यादा मामले गुजरात से 
नेशनल क्राइम रिकॉर्ड ब्यूरो से प्राप्त आंकड़ों के अनुसार जब्त नकली नोटों  में दो हज़ार की सर्वाधिक हिस्सेदारी गुजरात से है| 
2018 में 6 .93 करोड़  कीमत के दो हज़ार के नकली नोट  गुजरात से मिले जबकि पक्षिम बंगाल से 3 .5  करोड़, तमिल नाडु  से 2.8 करोड़ और उत्तर प्रदेश 2 .6 करोड़  की कीमत के बराबर दो हज़ार के नोट  मिले | खास बात यह है की झारखण्ड , सक्किम और मेघालय  के अलावा चण्डीग़ढ , दादर और नगर हवेली  , दमन और दीव , पुडुचेरी  से दो हज़ार का एक भी नकली नोट  नहीं पकड़ा गया | 

53 दिन बाद ही मिला पहला नकली नोट 
नोटबंदी  की घोषणा  के 53 दिन बाद ही दो हज़ार के 2272  नकली नोट पकडे गए जो 45 .44 लाख कीमत के बराबर थे | इनमे से 1300  गुजरात से और 548 नोट  पंजाब  से पकड़े गए |  इसके अलावा कर्नाटक , हैदराबाद , मेरठ , बेंगलुरु और राजकोट  से भी नकली नोटों के मामले सामने आए थे | 
नोट  छापने का खर्च 
रिज़र्व बैंक अपने नोट सब्सिडियरी  के माध्यम से छपता है | सब्सिडियरी  का नाम है भारतीय  रिज़र्व बैंक  नोट  मुद्रण  प्राइवेट लिमिटेड  |  बैंक के मुताबिक दो हज़ार का एक नोट 3 रुपये 54 पैसे  का पड़ता है | 500  का एक नोट  तीन रुपये  नौ पैसे  का पड़ता  है |  पांच रुपये का नोट  48 पैसे , 10 रुपये का नोट 96 पैसे , 20 रूपये  का नोट  एक रूपये  पचास  पैसे , 50 रुपये का नोट एक रुपये 81 पैसे, 100 रुपये  का नोट  एक रुपया 79 पैसे में पड़ता है | 
how to identify fake Indian currency note

how to identify fake Indian currency note


बनाए गए थे 17 सुरक्षा चक्र 
  1. नोट के बायीं  ओर  कोड  में लिखा दो हज़ार | 
  2. नीचे  की ओर  बायीं तरफ दो  हज़ार  की ताज़ा तस्वीर | 
  3. देवनागरी  फोंट  में लिखा दो हज़ार | 
  4. नोट के मध्य में महात्मा गाँधी का चित्रांकन | 
  5. सूक्ष्म शब्दो  में लिखा भारत और INDIA | 
  6. RBI  का कलर  कोड | जो नोट  को झुकाने पर हरे से नीला होता है | 
  7. RBI  के विवरण के नीचे  गवर्नर के हस्ताक्षर | 
  8. नोट के मध्य में इलेक्ट्रो टाइप  और वाटर मार्क के साथ महात्मा गाँधी की तस्वीर |  
  9. नोट के बायीं तरफ ऊपर और दायीं  तरफ नीचे  बढ़ते कर्म में नंबर | 
  10. हरे से नीले  होते रंग में लिखी दो हज़ार की संख्या | 
  11. सिक्योरिटी के लिए नोट के दायीं ओर  लिखे कोड | 
  12. नोट  के दाहिनी तरफ लगा अशोक स्तंभ | 
  13. बायीं ओर  नोट के छपने का साल | 
  14. सवच्छ  भारत का स्लोगन और  लोगो | 
  15. बायीं  ओर  दिया भाषा कॉलम | 
  16. मंगलयान  की तस्वीर | 
  17. देवनागरी में दायीं ओर  लिखा दो हज़ार (अंको  में )
CONCLUSION : so in the above post we have read about how to identify fake Indian currency note. I hope it will be helpfull for you. You can comment us your suggestion.
thanks

Post a comment

3 Comments