Cyber Attack Security 2020

Cyber Attack Security 2020

In this post you will read about cyber attack 2020 and security . This post will help you to know more about cyber crime and teach you how to be safe from cyber attack through bank account.

एक लिंक कर सकता है आपको कंगाल

आप सोचते हैं कि  बैंक  में  आपका पैसा  सुरक्षित  है तो सचेत हो जाएं |साइबर  ठगों  ने बैंकिंग सिस्टम की सुरक्षा  में सेंधमारी  कर  दी है |  बैंकों  की पारंपरिक  सुरक्षा  प्रणाली  बौनी  साबित हो रही है और प्रदेश  में हर  रोज लोगों  के खातों  से लाखों रूपये  निकल रहे हैं |  एक  अनजान लिंक  पर  क्लिक  करने से आपके  खाते  में  जमा रकम  चंद  मिनट  में पार  हो सकती है | 
साइबर  अपराधी बदल रहे ठगी का पैटर्न,अब क्यूआर  कोड से खातों  में  लगा रहें  सेंध 
   साइबर  अपराधियों  ने भी अब ठगी  का पैटर्न  बदल दिया है |  स्कीमर  लगाकर  कार्ड  क्लोनिंग के जरिए  करोड़ो  रूपये  पार करने के बाद जालसाजों  ने नया  तरीका इज़ाद  किया है |  ठग अब प्रमुख कंपनियों  के नाम से मिलती जुलती  वेबसाइट  बनाकर  लोगो को गुमराह  कर रहे हैं | इनके निशाने पर  ऑनलाइन  शॉपिंग करने वाले लोग सर्वाधिक हैं |  जालसाज अब क्यों आर कोड (QUIK  RESPONSE  CODE ) के लिंक के ज़रिए  बैंक  खाते  हैक करने लगे हैं | 
    ठग  olx   और flipkart  समेत अन्य  वेबसाइट  पर   खरीदारी  करने वाले  लोगों  को झांसे में ले रहे हैं | इस  दौरान वह  किसी सामान के क्रय  विक्रय  की बात फाइनल कर  ऑनलाइन पेमेंट की बात कहते है | इसके बाद लोगो  के वाट्सएप  नंबर  पर  एक लिंक भेजते हैं |  जैसे ही लोग उस  लिंक  पर क्लिक करते  हैं , ठग  लोगो के मोबाइल  फोन का QR CODE  स्कैन कर खाते में रकम पार कर  दे रहे हैं | 

व्हाट्सएप  को  बनाया हथियार 

साइबर  अपराधी  सामान्य  कॉल की जगह वाट्सएप  कॉल करते हैं |  लोगों  का भरोसा  जीतने  के लिए खुद को सैन्यकर्मी  होने  का झांसा  देते हैं | वह  प्रोफाइल पर सेना की फोटो भी लगते  हैं | ठगी के बाद जालसाज पीड़ित का नंबर ब्लॉक लिस्ट में  डाल  देते हैं | 

Cyber Attack Security 2020
एक्सपर्ट  की सलाह 

एसटीएफ  के एडिशनल एसपी व साइबर  विशेषज्ञ  विशाल विक्रम सिंह  का कहना  है की मोबाइल फोन या  कंप्यूटर परजिस लिंक  के बारे  में आपको जानकारी नहीं है , उसे  न खोलें |  किसी  बैंक की ओर  से कभी भी फोन  पर  खाते की डिटेल नहीं मांगी  जाती है | कोई सॉफ्टवेयर डाउनलोड  करने पर सतर्कता  बरतें | 

बैंककर्मी  बनने  से लेकर  क्लोनिंग तक 
तकरीबन  एक  दशक पहले साइबर अपराध के मामले एकाएक सामने आए थे |  पिछले  पांच  साल  में  साइबर  क्राइम तेजी  से बढ़ा  और फिर मानों  बाढ़  सी आ गई | खुद  को   बैंककर्मी  बताकर  लोगों  को फोन कर  उनसे खाते की जानकारी लेकर ठगी का सिलसिला शुरू  हुआ था | इसके बाद ठग हाई टेक हुए  और उन्होंने कार्ड  क्लोनिंग तक शुरू  कर  दिया |  अब  एटीएम  कार्ड  लोगो  की जेब में रहता  है और  रकम निकल ली  जाती है |  

ऐसे होता है कार्ड का डाटा चोरी

स्कीमर 
ठग  स्कीमर (डाटा  चोरी  करने की डिवाइस ) का इस्तेमाल  एटीएम  के कार्ड रीडर स्लॉट  में  लगाकर डाटा  चोरी  में  करतें  हैं | 


फर्जी कीबोर्ड 
एटीएम  में  कीबोर्ड  पर  साइबर  अपराधी  फर्जी  कीबोर्ड लगा देते है, जिसपर  कार्ड  की सारी  जानकारी  
अंकित  हो जाती 

हिडेन  कैमरा 
एटीएम में हिडेन  कैमरे  लगाकर साइबर ठग लोगो के एटीएम कार्ड की जानकारी  और पिन कोड  चोरी कर  लेते हैं | 

फिशिंग 
फिशिंग के माध्यम से लोगों   को स्पैम इ -मेल  कर  गोपनीय  डाटा चोरी किया  जाता है | 

शोल्डर सर्फिंग 
इसके  माध्यम से ठग आपको  मदद का झांसा देते है और फिर  आपका कार्ड बदल  लेते हैं | 

मर्चेंट /पॉइंट ऑफ़ सेल 
स्वैपिंग मशीन में एटीएम  कार्ड  डालने के दौरान ठग मैग्नेटिक स्ट्रिप  का प्रयोग कर  डाटा चोरी कर  लेते हैं | 

Cyber Attack Security 2020

हर माह 300  लोग  ठगी  के शिकार 

उत्तर प्रदेश  की आबादी 22 करोड़ है | हर साल यहाँ लगभग एक लाख लोग साइबर  क्राइम(CYBER CRIME) के शिकार हो रहे है , लेकिन अपराधियों से निपटने के लिए यूपी पुलिस  के पास सिर्फ दो साइबर थाने  लखनऊ एंड नोएडा  में है | इन  थानों  में 25 लाख से नीचे  की ठगी की F I R  दर्ज़ नहीं होती | 25 लाख  से कम  की धनराशि  निकलने पर सम्बंधित  जिले की साइबर  क्राइम सेल (CYBER CRIME CELL)पड़ताल  करती है | बहुत कम  ऐसे मामले हैं, जिनमे पुलिस ठगों को पकड़ने में या पीड़ितों की रकम वापिस  दिलाने में सफल हुई है |

Conclusion:
So in the above post we read about Cyber Attack Security 2020 
this post helps you to alert always when you are online or offline. hope you like this.
you can comment your suggestions.


Post a comment

3 Comments