TECHYDUNIYA IS ALL ABOUT LATEST TECHNOLOGY AND FOR SOME IMPORTANT AWARENESS RELATE TO TECHNOLOGY , TIPS AND TRICKS , GADGET REVIEW, TECH GUIDE, ONLINE FRAUD, , LAUNCH PAD ETC.

Sunday, 28 October 2018

Upcoming 5G technology

भारत में 4G लॉन्च होने के बाद स्मार्टफोन की दुनिया पूरी तरह से बदल गई है अब देश में 5G यानी फिफ्थ जनरेशन मोबाइल नेटवर्क भी दस्तक देने लगा है इसके बाद सिर्फ मोबाइल की नहीं बल्कि इससे आपकी पूरी दुनिया ही बदल जाएगी|

1G  से 5G का सफर


1G नेटवर्क से शुरू हुआ सफर अब 5जी नेटवर्क तक पहुंच गया है जानते हैं इसके अब तक के सफर के बारे में वन जी नेटवर्क मोबाइल ने मोबाइल नेटवर्क में जी का आशय जनरेशन से है| 

1G

 मोबाइल टेलीफोन की पहली जनरेशन अर्थात पहली पीढ़ी है|  यह एनालॉग सिग्नल पर आधारित तकनीक थी और इसकी क्षमता बेहद ही कम थी| सबसे पहले वर्ष 1979 में 1जी तकनीक का उपयोग किया गया था जापान में निपुण टेलीग्राफ एंड टेलीफोन कंपनी( जिसे एनटीटी नाम से भी जाना जाता है) ने सबसे पहले इसे लांच किया था|

2G 

नेटवर्क पहली बार 991 में मोबाइल के 2G नेटवर्क का विकास किया गया | वहीं जहां एनालॉग नेटवर्क थी वही 2G में डिजिटल सिगनल का उपयोग किया गया|  2 जी के लिए फिनलैंड से जीएसएम आधारित मोबाइल तकनीक शुरू हुई| वहीं यूएस में सीडीएमए का प्रयोग किया गया| कॉलिंग के साथ ही डाटा के लिए उपयोग किया जा सकता था| लेकिन इसकी क्षमता काफी कम थी|

 3G

नेटवर्क  2000 के बाद 3G नेटवर्क की शुरुआत हुई| इसके लिए आईटीयू इंटरनेशनल टेलीकम्युनिकेशन यूनियन आई एम नाम से स्टैंडर्ड बनाया| हालांकि जापानी कंपनी एनटीटी डोकोमो ने फ्री कमर्शियल सर्विस लॉन्च कर दी थी| लेकिन वर्ष 2001 से आधारित रूप से लॉन्च कर दिया गया | 3G नेटवर्क डाटा और कॉल दोनों के लिए था| इसमें एचएसडीपीए एचपी एचपी प्लस और एच पी ए स्टैंडर्ड है|

 4जी

तकनीक की शुरुआत वर्ष 2007 में हुई|लेकिन उस वक्त इसे वार्ड मैप वाईमैक्स नेटवर्क पर टेस्ट किया गया था | इसे आईटीयू ने ही तैयार किया था वहीं वर्ष 2008 में डीयू ने 4G के लिए एडवांस तकनीक की घोषणा कर दी| जो जीएसएम पर आधारित 4जी तकनीक थी इसके बाद से इसमें और विकास  देखा गया 4G के लिए एफडीडी और डीडी सहित दो तकनीक है| भारत में दोनों तकनीकों का उपयोग होता है| 

After the launch of 4G in India, the smartphone world has changed completely, now the country's 5G ii Fifth Generation mobile network has started knocking, not just mobile, but it will change your entire world.
1G to 5G journey
The journey started from 1G network is now reaching 5G network. Know about its journey so far, One G Network Mobile has the meaning of live in the mobile network.
1G
 The first generation of mobile telephone is the first generation. It was a technology based on analog signal and its capacity was very low. First, in the year 1979, 1G technology was used in Japan, the accomplished telegraph and telephone company (also known as NTT) launched it first.
2G
Network for the first time, 2G network of mobile was developed in 991; Where there was analog network, digital signals were used in 2G; GSM based mobile technology started from Finland for 2G while CDMA was used in the US with calling Could only be used for removing but its capacity was very low.
 3G
After the network 2000 the 3G network began. For this, ITU made the standard by the name of International Telecommunication Union I However, the Japanese company NTT Docomo launched the free commercial service. But it was launched based on the year 2001. 3G network was for both data and call. It has HSDPA HP HP Plus and HPA Standard.
 4G
Technology started in 2007. But at that time it was tested on Ward Map WiMAX Network. It was prepared by ITU itself, in the year 2008, the DU announced the advance technology for 4G. Since it was a 4G technology based on GSM, there has been two technology, including FDD and DD for 4G, seen in the development. Both technologies are used in India.

कितनी बदलेगी इंटरनेट की दुनिया?

कभी कागज में पैगाम लिख कर उसे डाक से पोस्ट किया जाता था लेकिन आज बस फोन के दो बटन दबाते ही मैसेज पहुंच जाते हैं यह सब इंटरनेट की वजह से संभव हुआ है |यह तो एक छोटा सा काम है इंटरनेट ने भारी भरकम वीडियो शेयर वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग और लाइव वीडियो जैसी सेवाओं को भी आसान बना दिया है |
आप कह सकते हैं कि यह सब 4जी तकनीक के आने के बाद हुआ है सेवाएं पहले भी थी लेकिन 4G ने इसे फास्ट कर दिया है 4जी का अपग्रेड नेटवर्क 5G जल्द ही दस्तक देने वाला है|

5G NETWORK, INTERNET 5G, 5G TECHNOLOGY,

संस्करण 5G सेल्यूलर मोबाइल सर्विस के पांचवें संस्करण की नेटवर्क तकनीक है जो सुपर फास्ट डाटा सर्विस के लिए जानी जाती है|
हालांकि 4G आने के बाद से ही 5G की चर्चा होने लगी थी |
लेकिन इस क्षेत्र में विशेष प्रगति वर्ष 2017 के बाद देखने को मिली विश्व की प्रमुख मोबाइल टेलीफोन नेटवर्क तकनीक का विकास करने वाली संस्था आईटीयू (इंटरनेशनल टेलीकम्युनिकेशन यूनियन) ने 3gpp थर्ड जनरेशन पार्टनरशिप प्रोजेक्ट के तहत दिसंबर 2017 में 5G के लिए मानक की घोषणा की थी संस्था ने इस तकनीक का नाम आईटीयू आईएमटी 2020(इंटरनेशनल मोबाइल टेलीकम्युनिकेशन -2020) का नाम दिया है |
साथ ही इसके लिए लोगों की भी घोषणा कर दी है |
5G के लिए मानक तय होने के बाद इसके लिए टॉवर्स और सहित सभी तरह के उपकरण निर्माण का रास्ता साफ हो गया है |
दूसरी ओर 5G स्टैंडर्ड होने के बाद 5G फोन निर्माण करना भी संभव हो गया है|
 सोनी,नोकिया,सैमसंग,एलजी,हुवावे और,जेडTE  सहित कई कंपनियों ने 2019 तक 5G फोन लॉन्च करने के लिए प्रतिबद्धता जाहिर की है| मोबाइल की 5G नेटवर्क टेक्निक लो फ्रिकवेंसी पर कार्य करती है|
इससे ओमेगा से लेकर 6 ग्राहक के नेटवर्क पर चलाया जा सकता है|
जहां 4G के लिए अधिकतम स्पीड एमबीपीएस तक की है|
वहीं 5जी स्पीड 1gbps से ही शुरू होगी|
 ऐसे में आप खुद ही सोच सकते हैं कि यह अहसास कैसा होगा|इतना ही नहीं 5G नेटवर्क पर अधिकतम डाटा स्पीड 20 जीबीपीएस तक के है|



Version 5G is the networking technology of the fifth edition of Cellular Mobile Service, which is known for super fast data service, although 5G was started since 4G, but special progress in this field was seen after the year 2017 The ITU (International Telecommunication Union), a company that develops the leading mobile telephone network technology, has a 3gpp third generation partnership project. Under the declaration of Standard for 5G in December 2017, the organization named the technique ITU IMT 2020 (International Mobile Telecommunication-2020) and has also announced the people for it after the standard set for 5G The way to make all types of equipment, including towers and cleaners, has been cleared, on the other hand, it is also possible to manufacture 5G phones after the 5G standard has been made by Sony, Nokia Samsung ,LG, Huawei and ZedTE .Many companies, including the commitment to launch 5G phones by 2019, have demonstrated that the 5G network of mobile works on technical low frequency and can be run from Omega to 6 customer networks where maximum speed of up to 4G is up to Mbps. At the same time, the 5G speed will start from 1gbps, in such a way, you can think of yourself how much it will be, not only that, the maximum data speed on the 5G network is up to 20 GBps.

4G VS 5G NETWORK
5G के बारे में जानने के बाद आप यही सोच रहे होंगे कि आखिर यह 4जी से कितना अलग होगा| तो आपको बता दें कि 4G की अपेक्षा 5G को 20 गुना तेज माना गया है | जहां 4G की अधिकतम स्पीड 600 एमबीपीएस तक की है वहीं 5G में 20 जीबीपीएस की है | इतना ही नहीं से 4G की अपेक्षा कम पावर खपत करने वाला माना गया है| इसकी क्षमता का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है| कि यदि फुल स्पीड पर 5G डाटा चले तो 1 सेकंड में पूरी एचडी मूवी डाउनलोड की जा सकती है | वहीं लेटेंसी रेट के मामले में भी यह 4जी से कहीं आगे है |1 पॉइंट से दूसरे पॉइंट तक डाटा पैकेट पहुंचाने में जितना समय लगता है उसे लेटेंसी  रेट कहते हैं 4G का 10 मिली सेकंड का है जबकि 5G में सिर्फ 1 मिली सेकंड का है| 4G जहां वीडियो स्ट्रीमिंग और वीडियो डाउनलोड आदि के लिए जाना जाता है| वही 5जी सर्विस मशीन लर्निंग और मशीन टो मशीन कम्युनिकेशन के लिए ज्यादा जाना जाएगा 5G आने के बाद आई और स्मार्ट हो जैसे सेवाएं काफी तेजी से बढ़ेंगे| इतना ही नहीं बिना ड्राइवर वाले कार और मल्टीप्लेयर वीडियो गेमिंग का एहसास भी 5G में किया जा सकेगा| हालांकि माना जा रहा है कि 5G आने के बाद हेल्प सेवाओं में भी काफी बदलाव देखने को मिलेगा|

After learning about 5G, you might have been thinking about how much it will be different from 4G. So tell you that 5G is considered 20 times faster than 4G. While the maximum speed of 4G is up to 600 Mbps, the 5G has 20 Gbps. Not only this, it has been considered less power consuming than 4G. Its potential can be estimated by this. If 5G data is played on full speed, then full HD movie can be downloaded in 1 second. At the same time, in terms of latency rate, it is far ahead of 4G. The time taken to deliver data packet from 1 point to second point is called Latency Rate, 4G is 10 milliseconds, whereas 5G has only one millisecond. 4G is known for video streaming and video downloads. The same will be known for the same 5G service machine learning and machine to machine communication communication. After the arrival of 5G, the services like I and Smart Ho will grow very fast. Not only this, the car with no driver and multiplayer video gaming will also be realized in 5G. Although it is believed that after coming to the 5G, there will also be considerable changes in the help services.


कब तक शुरू होगी 5G
सिर्फ नेटवर्क ऑपरेटर ही नहीं बल्कि मोबाइल निर्माताओं ने भी 5G के लिए कमर कस ली है और माना जा रहा है कि 2019 तक 5G सेवाएं दस्तक देंगी| हालांकि यह भी सवाल है कि सबसे पहले 5G नेटवर्क की शुरुआत कहां होगी वैसे अब तक तकनीक की शुरुआत यूरोपीय जापान से हुई है|लेकिन इस बार चीन ने भी कमर कस ली है हो सकता है कि सबसे पहले चीन 5G की शुरुआत कर दे| भारत में 5G की स्थिति अब तक कहा जाता है कि भारत में तकनीक में दूसरा देशों से काफी पीछे है|

यहां लगभग 15 साल की देरी से मोबाइल सर्विस आई 3G सर्विस में भी हम लगभग 10 साल पीछे थे | यूरोपीय देशों ने 2001 में ही 3G सर्विस लॉन्च करना शुरू कर दिया था| लेकिन भारत में 2011 के बाद यह सर्विस आई हालांकि 4जी में बहुत ज्यादा देरी नहीं हुई इसमें लगभग 3 से 4 साल पीछे थे|  हां 5G में शायद ऐसा भी ना हो| रिलायंस इंडस्ट्रीज के चेयरमैन और मैनेजिंग डायरेक्टर मुकेश अंबानी ने वर्ष 2016 में अपनी 4g सर्विस की शुरुआत के समय ही है घोषणा की थी कि जिओ नेटवर्क 5G रेडी है कंपनी ने 5G के विकास के लिए सैमसंग से समझौता भी कर लिया है | एयरटेल भी इस मामले में जियो से पीछे नहीं है|  कंपनी ने चीनी वेंडर हुआवे के साथ समझौता किया है और गुरुग्राम के मानेसर में भारत का पहला 5G एक्सपीरियंस सेंटर स्थापित किया है| फिलहाल यह प्रशिक्षण के तौर पर है |भारत सरकार के उपक्रम बीएसएनल ने भी 5G को लेकर घोषणा कर दी है ऐसे में समझ सकते हैं कि 5G को लेकर भारत भी पूरी तरह से तैयार है|

How long will 5G
Not only the network operator, but mobile manufacturers have also waited for 5G and it is believed that 5G services will be knocked by 2019. However, there is also the question of where the first 5G network will be started, so far the technique has begun from European Japan. But this time China has even raised its grip, China may start 5G first. The position of 5G in India is so far said that in India the technology is far behind other countries.

We were around 10 years behind the delay of 15 years in the mobile service i 3G service. European countries started launching 3G services in 2001. But in India this service came after 2011, although there was not much delay in 4G, it was around 3 to 4 years behind. Yes, maybe this is not the case in 5G. Reliance Industries Chairman and Managing Director Mukesh Ambani announced in the beginning of its 4G service in the year 2016, that the Geo Network is 5G Ready, the company has compromised Samsung for the development of 5G. Airtel is not too far behind in this case. The company has entered into an agreement with Chinese vendor Huawei and established India's first 5G Experience Center in Manesar in Gururgram. At present, it is in training. India's government initiative BSNL has also announced the announcement of 5G, in such a way that India is fully prepared for 5G.


कब आएंगे 5G डिवाइस?
 5G को लेकर डिवाइस क्षेत्र में भी बड़ी तैयारी की जा चुकी है| मोबाइल चिपसेट निर्माता क्वालकॉम ने वर्ष 2017 में ही 5G चिपसेट का प्रदर्शन कर दिया था|  क्वालकॉम द्वारा X50 5G चिपसेट तैयार किया गया था ,जो 1gbps प्रति सेकंड की दर से डाटा कनेक्शन सपोर्ट करने में सक्षम था|  वहीं इस साल कंपनी ने इसका अपडेट वर्जन पेश किया है | जो ना सिर्फ एडवांस है,  बल्कि पहले की अपेक्षा काफी छोटा भी हो गया है | रही बात डिवाइस आने की तो मोटोरोला ने मोटो जेड 3 के साथ 5z डिवाइस की शुरुआत कर दी है | साथ ही कई कंपनियां लांच करने वाली है| 
 तैयार है कंपनियां
 मोटरोला के बाद श्याओमी ने भी मिक्स 3:00 से 5जी फोन क्षेत्र में कदम रख दिया है|  हालांकि मी मिक्स 3 फिलहाल चीन में लॉन्च हुआ है|  लेकिन 5G के क्षेत्र में यह बड़ी कोशिश है | क्वालकॉम के 4G /5G सम्मिट 2018  में वनप्लस ने जानकारी दी है कि वर्ष 2019 में लांच होने वाली कंपनी का फोन 5जी रेडी होगा|  वन प्लस 7 में 5G सपोर्ट होगा माना जा रहा है कि यह फोन कॉलकम के स्नैपड्रेगन 855 चिपसेट पर आधारित हो सकता है|  विवो ने भी 2019 तक अपने 5G फोन को लॉन्च करने की बात कही है |  ऐसे में वि 13या फिर नेक्स  सीरीज से कंपनी 5जी फोन की शुरुआत कर सकती है | हाल ही में हुए क्वालकॉम इवेंट के दौरान नोकिया ,सोनी, एच टी सी  और जेडटीइ जैसी कंपनियों ने भी अपने 5जी फोन की जानकारी दी| 
गैलेक्सी S10 में हो सकता है 5G

विश्व की प्रमुख मोबाइल फोन निर्माता कंपनी सैमसंग 5जी को लेकर तैयारी कर चुका है | माना जा रहा है कि गैलेक्सी S10 को 5G सपोर्ट के साथ पेश किया जा सकता है|   हाल में आई कुछ लीक्स में इस बात का दावा किया गया था| 5G डिवाइस के मामले में एलजी भी पीछे नहीं है वर्ष 2018 की शुरुआत में ही कंपनी ने कहा था कि वह 2019 के शुरुआत में 5G फोन को लॉन्च कर सकती

When will the 5G device?
 5G has also been made big in the device area. Mobile Chipset manufacturer Qualcomm had demonstrated 5G chipsets in the year 2017 itself. X50 5G chipset was created by Qualcomm, which was able to support data connection at a rate of 1gbps per second. This year, the company has introduced an updated version. Which is not only advance, but has also become much smaller than before. Motorola has started the 5z device with the Moto Z3 to get the device going. Also many companies are about to launch.
 Ready companies
 After Motorola, Xiaomi has also stepped into the mix from 3:00 to 5G phone area. However Mi Mix 3 has just launched in China. But this is a great effort in the field of 5G. Qualcomm's 4G / 5G Summit In 2018, OnePlus has informed that the company's phone will be ready for launch in 2019. 5G support in One Plus 7 is believed to be that this phone may be based on the Snapdragon 855 chipset of CallMeck. Vivo has also said to launch its 5G phone by 2019. In such a case, the company can start the 5G phone from V13 or Next series. During the recent Qualcomm event, companies like Nokia, Sony, HTC and ZTE also gave their 5G phone information.
Galaxy S10 can have 5G

The world's leading mobile phone manufacturer Samsung has prepared for the 5G. It is believed that the Galaxy S10 can be offered with 5G support. This was claimed in some recent leaks. In the case of 5G devices LG is also not behind: In the beginning of 2018, the company had said that it can launch 5G phones in early 2019

Post a Comment