About Me

फोन को कैसे बनाएं चाइल्ड फ्रेंडली

वैसे तो बच्चों के हाथ में फोन नहीं देना चाहिए, क्योंकि यह खिलौना या फिर खेलने वाला गैजेट नहीं है|  एक बार फोन की लत लग गई, तो फिर उसे छोड़ना मुश्किल हो सकता है| अगर बच्चों के साथ फोन साझा कर ही रहे हैं, तो फिर आपको फोन की सेटिंग्स  को चाइल्ड फ्रेंडली बनाना चाहिए | आइए जानते हैं कैसे कर सकते हैं इसे......



सिक्योरिटी लॉक को करें इनेबल: एंड्राइड फोन का इस्तेमाल कर रहे हैं, तो इसमें पेटर्न और पासवर्ड लॉक की सुविधा होती है|  आजकल फेस डिटेक्शन का ऑप्शन भी आ गया है| फोन में सिक्योरिटी लॉक करने का तरीका भी आसान है: सबसे पहले फोन की सेटिंग्स सिक्योरिटी में जाएं|
यहां पर स्क्रीन लॉक पर टैप करें|   सिक्योर लॉक का ऑप्शन आपके फोन में होता है|
आप पेटर्न लॉक लगा सकते हैं|   यह पासवर्ड की तरह ही इस्तेमाल करने में आसान होता है|   वैसे, अपनी सुविधा के हिसाब से किसी भी तरह के सिक्योरिटी लॉक को अपना सकते हैं|
बदले प्ले स्टोर की सेटिंग: बच्चे गूगल प्ले स्टोर से कुछ ना कुछ डाउनलोड करते रहते हैं|   ऐसे में एप परचेज को कंट्रोल करने के लिए इस तरीके को आजमा सकते हैं.....
इसके लिए गूगल प्ले स्टोर पर पैरेंटल कंट्रोल्स को ऑन करना होगा|   पहले प्ले स्टोर ऐप को ओपन कर इसके मैन्यू में जाएं|
मैन्यू में जाने के बाद सेटिंग्स में जाएं|   यहीं पर नीचे पैरंटरल कंट्रोल्स का विकल्प दिखाई देगा|   उसे ऑन कर दें|
ऑन करने के बाद पिन क्रिएट करने के लिए कहा जाएगा|   पिन ऐसा रखें जिनका बच्चे आसानी से अनुमान ना लगा सके इसके बाद बच्चों की उम्र के हिसाब से ‘एप्स एंड गेम्स’  को रीस्ट्रिक्ट कर सकते हैं |
अननोन सोर्स को करें डिसएबल:  अगर आपके बच्चे स्मार्ट हैं,  तो वह केवल गूगल प्ले स्टोर से ही एप्स और गेम्स डाउनलोड नहीं कर सकते , बल्कि ब्राउजर के जरिए भी वे गेम्स और एप्स डाउनलोड कर सकते हैं| ऐसी स्थिति में फोन की सेटिंग में अननोन सोर्स के ऑप्शन को डिसएबल कर दें|   आइए जाने, अननोन सोर्स से डाउनलोड को कैसे रोक सकते हैं:  इसके लिए सबसे पहले फोन की सेटिंग > सिक्योरिटी में जाएं|
स्क्रोल डाउन करने पर अननोन सोर्स का विकल्प मिलेगा|  उसे ऑफ कर दें|
डाउनलोड करें यूट्यूब किड्स: बच्चे यूट्यूब बहुत ज्यादा पसंद करते हैं क्योंकि यहां उन्हें तमाम तरह के कार्टून चैनल्स मिल जाते हैं,  लेकिन इस प्लेटफार्म पर बच्चे क्या देखें और क्या नहीं? उसे कंट्रोल करने के बहुत ज्यादा ऑप्शन नहीं है| ऐसे जुट एक अच्छा हो या पर आ को कर मिलता है कि बच्चे क्या देखें और क्या नहीं| यहां पर बच्चों की उम्र के हिसाब से कंटेंट को फिल्टर कर सकते हैं|
फोन के अंदर बनाए सेफ जोन:  बच्चों के लिए फोन के अंदर ही एक सेफ जोन बनाया जा सकता है इसके लिए किड्स प्ले एप का इस्तेमाल कर सकते हैं| इसमें किड्स फ्रेंडली एप्स होते हैं और इसका इंटरफेस भी बच्चों के हिसाब से ही है | मेरी मां
खास बात यह है कि जब तक आप नहीं चाहेंगे बच्चे इस एप से बाहर नहीं निकल पाएंगे अगर बच्चे बैक बटन के जरिए इस एप से बाहर निकलना चाहे तो यह एप री लॉन्च हो जाता है|  अगर फोन को रीस्टार्ट भी कर देते हैं तब भी यह एप ऑटोमेटिकली ओपन हो जाता है| यहां से बच्चे तभी बाहर निकल पाएंगे जब आप एप सैटिंग्स के दौरान प्रोवाइड कराया गया पासवर्ड डालेंगे इसके अलावा इसमें बहुत सारे पेरेंटिंग कंट्रोल टूल्स भी मिल जाएंगे|


Post a Comment

0 Comments